सर्वोत्तम प्रेरणादायक कविता संग्रह

Motivational🔥 Poems In Hindi

💪प्रेरणादायक 💪कविताएँ

motivational poem in hindi, motivational poem for student, motivational poem for success, motivational poem on life, best motivational poem in hindi, top motivational poem in hindi, motivational poem for student in hindi, motivational poem for success in hindi, motivational poem in hindi about success
Motivational Poem In Hindi

List of Motivational Poem in Hindi

  1. चलना हमारा काम है
  2. सफर में धूप तो होगी
  3. दुनिया में यूँही होता है



 ✴ चलना हमारा काम है

गति प्रबल पैरों में भरी
फिर क्यों रहूं दर-दर खड़ा
जब आज मेरे सामने
है रास्ता इतना बड़ा
जब तक न मंजिल पा सकूं
तब तक न मुझे विराम है
चलना हमारा काम है
चलना हमारा काम है
कुछ कह लिया कुछ सुन लिया
कुछ बोझ अपना बट गया
अच्छा हुआ तुम मिल गई
कुछ रास्ता भी कट गया
क्या राह में परिचय कहूं
राही हमारा नाम है
चलना हमारा काम है
चलना हमारा काम है
जीवन अपूर्ण लिए हुए
पाता कभी खोता कभी
आशा निराशा से घिरा
हंसता कभी रोता कभी
गति मति न हो अवरुद्ध
इसका ध्यान आठो याम है
चलना हमारा काम है
चलना हमारा काम है
इस विशद विश्व प्रवाह में
किसको नहीं बहना पड़ा
सुख-दुख हमारी ही तरह
किसको नहीं सहना पड़ा
फिर व्यर्थ में क्यों कहता फिरू
मुझ पर विधाता वाम है
चलना हमारा काम है
चलना हमारा काम है
मैं पूर्णता की खोज में
दर-दर भटकता ही रहा
प्रत्येक पग पर कुछ ना कुछ
रोड़ा अटकता ही रहा
हो निराशा क्यों मुझे
जीवन इसी का नाम है
चलना हमारा काम है
चलना हमारा काम है
साथ में चलते रहे
कुछ बीच में से ही फिर गए
गति न जीवन की रुकी
जो गिर गए सो गिर गए
जो चलते रहे हरदम
उसी की सफलता अभिराम है
चलना हमारा काम है
चलना हमारा काम है
फकत यह जानता
जो मिट गया वह जी गया
मूंदकर पलके सहज
दो घूंट हंसकर पी गया
सुधा मिश्रित गरल
वही साकिया का जाम है
चलना हमारा काम है
चलना हमारा काम है


- पद्मभूषण शिवमंगल सिंह 'सुमन' (Shivmangal Singh 'Suman')

✴सफर में धूप तो होगी

सफर में धूप तो होगी जो चल सको तो चलो
सभी हैं भीड़ में तुम भी निकल सको तो चलो
इधर उधर कई मंजिल है जो चल सको तो चलो
बने बनाए हैं सांचे जो ढल सको तो चलो
सफर में धूप तो होगी जो चल सको तो चलो

किसी के वास्ते राहे कहां बदलती हैं
तुम अपने आपको खुद ही बदल सको तो चलो
यहां कोई किसी को रास्ता नहीं देता
मुझे गिराके अगर तुम संभल सको तो चलो
यही है जिंदगी कुछ ख्वाब चंद उम्मीदें
इन्हीं खिलौनों से तुम भी अगर बहल सको तो चलो
सफर में धूप तो होगी जो चल सको तो चलो


कहीं नहीं सूरज धुआं धुआं है फिजा
खुद अपने आप से बाहर निकल सको तो चलो
हर एक सफर को है महफूज रास्तों की तलाश
हिफाजतो के रिवायते बदल सको तो चलो
सफर में धूप तो होगी, जो चल सको तो चलो

- निदा फाजली (Nida Fazli)


✴दुनिया में यूँही होता है

जब जब दर्द का बादल छाया
जब गम का साया लहराया
जब आंसू पलकों तक आया
जब ये तनहा दिल घबराया
हमने दिल को ये समझाया
दिल आखिर तू क्यों रोता है
दुनिया में यूँही होता है
ये जो गहरे सन्नाटे हैं
वक़्त ने सबको ही बांटे हैं
थोड़ी धुप है सबका हिस्सा
थोड़ा गम है सबका क़िस्सा
आँख तेरी बेकार ही नम्म है
हर पल एक नया मौसम है
क्यों तू ऐसे पल खोता है
दिल आखिर तू क्यों रोता है
दुनिया में यूँही होता है

- जावेद अख्तर (Javed Akhtar)




मोटिवेशनल कविताओ (Motivational Poem) का अनोखा संग्रह आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताएं।
धन्यवाद

Post a Comment

2 Comments